Home लेटेस्ट न्यूज़ रक्षा बंधन शुभ मुहर्त, जानिए कब है रक्षा बंधन ? बहनों के लिए कौन सा है राखी बाँधने का शुभ समय

रक्षा बंधन शुभ मुहर्त, जानिए कब है रक्षा बंधन ? बहनों के लिए कौन सा है राखी बाँधने का शुभ समय

by peaknewsadmin

दोस्तों सावन का महीना शुरू हो गया है और इसी महीने में शुक्ल पक्ष को पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है. जिसे हम रक्षाबंधन भी कहते है जोकि भाई बहन का त्यौहार कहलाता है. इस दिन का बहने बेसब्री से इंतज़ार करती है और अपने भाई के हाथ पर राखी बांधती है. बहने अपने भाई की लम्बी उम्र के लिए दुआ करती है तो भाई भी बहनों को उनकी रक्षा का वचन देते है. वहीँ कुछ लोग अभी भी ये नही जान पा रहे है कि आखिर रक्षा बंधन कब है ? क्योंकि कुछ लोग इसे 11 अगस्त को बता रहे है तो कुछ का कहना है कि रक्षा बंधन 12 अगस्त को है. तो चलिए आपको बताते है कब है रक्षा बंधन और कौन सा है शुभ मुहर्त ?

रक्षा बंधन का दिन आते है बहने अपने भाई की कलाई पर राखी बाँधना शुरू कर देती है. लेकिन ज्यादा लोग जल्दबाजी करते हुए मुहर्त को देखे बिना ही ये काम कर देते है. जबकि हिन्दू धर्म में हर त्यौहार का एक शुभ महूर्त होता है खासकर राखी बाँधने के समय को लेकर इसका मुहर्त सबसे पहले देखा जाता है. तो इस साल रक्षा बंधन 11 अगस्त को है. इस दिन आप सुबह से लेकर शाम तक किसी भी समय राखी बाँध सकती है. क्योंकि रक्षाबंधन का शुभ मुहर्त सुबह 10.38 मिनट से शुरू हो जायेगा और अगले दिन 12 अगस्त को सुबह 7.05 मिनट पर समाप्त होने वाला है. यानी आप चाहे तो अगले दिन यानी 12 तारिक की सुबह 7 बजे से पहले भी राखी बाँध सकती है या बंधवा सकते है.

हालांकि राखी को केवल 11 अगस्त को ही बांधना शुभ रहता है जब इसका सबसे शुभ महूर्त होगा. अब जानते है प्रदोष काल का मुहर्त जोकि 11 अगस्त की रात 8:51 मिनट से 9:14 मिनट तक रहने वाला है. इसके आलावा भी कुछ मुहर्त है जिनके बारे में भी आपको पता होना चाहिए. जिसमे रक्षा बंधन भद्रा अंत समय रात्रि 8 :51 मिनट, रक्षा बंधन भद्रा पूंछ – शाम 5:17 मिनट से 6:18 मिनट तक, रक्षा बंधन भद्रा मुख शाम 6:18 मिनट से 8 बजे तक.

अब जानते है रक्षा बंधन शुभ योग

अभिजीत मुहर्त शुरू होगा शाम 12: 08 मिनट से 12:59 मिनट पर, अमृत काल शुरू होगा 6:55 मिनट से 8:20 मिनट तक, रवि योग शुरू होगा सुबह 6:07 मिनट से 6:53 मिनट तक,

रक्षा बंधन में राखी कैसे बांधे ?

रक्षाबंधन पर पहले राखी की थाल तैयार करे जिसमे रोली, चंदन, अक्षत, दंही, राखी, मिठाई और घी का एक दीपक रखे. भाई की पूजा से पहले भगवान की आरती करे और भाई को उत्तर या पूर्व दिशा की ओर बिठाये. अब तिलक लगाए और फिर रक्षा सूत्र बांधे. आरती उतारकर उसे मिठाई खिलाये…

Source: https://www.aajtak.in/religion/festivals/story/raksha-bandhan-11-august-date-2022-shubh-muhurat-bhadra-kaal-timings-shubh-yog-tlifd-1500340-2022-07-16

Related Articles

Leave a Comment