Home Uncategorized ट्विन टावर होगा धाराशाही: विस्फोट की विडिओ बनाने पर होगी रोक, जाने पूरा मामला

ट्विन टावर होगा धाराशाही: विस्फोट की विडिओ बनाने पर होगी रोक, जाने पूरा मामला

by Garima

भारतीय इतिहास में पहली बार किसी इतने बड़े इमारत को नियंत्रित तरीके से, विस्फोटकों के सहारे गिराने की तैयारी की जा रही है | 800 करोड़ की लागत से अधूरे बनकर खड़े ट्वीन टावर को जमींदोस करने में महज कुछ सेकंडो का ही वक्त लगेगा | इस नियंत्रित विस्फोट के लिए पूरी तकनिकी तैयारियां की जा चुकी है | इस जोखिम भरे कदम को लेकर आस पास के 6 सोसाइटी में सुरक्षा को मद्देनज़र रखते हुए कुछ सख्त निर्देश जारी किये गए है |

नोएडा के सेक्टर- 93 ए में निर्मित ट्विन टावर को रविवार 28 अगस्त को नियंत्रित और विशेषज्ञों के दिशा निर्देश में गिरा दिया जाएगा | भारत में यह पहली बार होगा जब इतने बड़े स्तर पर विस्फोट से किसी बड़ी इमारत को ध्वस्त किया जायेगा | इस टावर को पूरे तरीके से क्षतिग्रस्त होने में लगभग 10 से 12 सेकंडो का ही वक्त लगेगा | पूरे टावर में हर एक स्तरों पर विस्फोटक लगाने का कार्य पूरा हो चुका है | 32 मंजिला ट्वीन टावर के आस पास कई उच्च सोसाइटी हैं, जिनमे हज़ारों के तादाद में लोग रहते है | इसी कारण के वजह से सभी काफी ज्यादा चिंतित हैं |

प्रशासन ने सभी खतरों को मद्देनज़र रखते हुए लगों को अपने अपने घरों से दूर जाने की सलाह दी है | किन सोसाइटी के लोगों को अन्दर ही रहना है और किन्हें घर से बाहर निकलने की जरुरत है, इसकी जानकारी प्रशासन ने पहले ही लोगों को दे दी है | प्रशासन के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्यवाही करने के आदेश दिए गए हैं | 

यातायात रहेगा बाधित

ट्वीन टावर की आस पास के रास्ट्रीय हाइवेज के आवाजाही पर रोक लगा दिया गया है | इसके लिए ट्रैफिक एडवाइजरी भी जारी की गयी है |  ताकि कोई अनहोनी होने पर उसके तबाही से बचा जा सके |

सोसाइटी हुयी पूरी खाली

ट्वीन टावर के आस पास 6 सोसाइटीयां हैं, जिनमे लगभग 3000 से भी ज्यादा फ्लैट है | सबसे ज्यादा खतरे के क्षेत्र में आने वाली सोसाइटी एमराल्ड कोर्ट सोसाइटी को पूरी तरह से खाली कराया जा चुका है | इसके अलावा सुरक्षा मानको का ध्यान रखते हुए लोगों को यह दिशा निर्देश दिए गए है की कोई भी विस्फोट के समय अपने अपने छतों पर आकर विडिओ नहीं बनाएगा | पकडे जाने पर सख्त कार्यवाही भी की जा सकती है | 

धूल मिटटी से बचाने के लिए भी किये है पुख्ता इंतज़ाम

विस्फोट के बाद धुल और मिट्टी के गुबार से पूरे इलाके में धुंध सा छा जाएगा | साथ ही साथ सोसाइटी को भी नुक्सान होगा इसी कारण से आस पास के सोसाइटी को बड़े बड़े कपड़ो से पूर्णतः ढाका जा चुका है | सोसाइटी के लोगों को बालकनी में भी आने की अनुमति नहीं दी गयी है | सभी को न्रिदेश दिया गया गया है की वो अपने खिड़की और दरवाज़े बंद रखें | रविवार को होने वाले इस विस्फोट में सारी सावधानी बरतने की अपील की जा रही हैं |

कौन कौन सोसाइटी के लिए जारी किये गए है सख्त निर्देश?

  1. सिल्वर सोसाइटी
  2. पारसनाथ सृष्टि
  3. पारसनाथ प्रेस्टीज
  4. एल्डिको  ओलम्पिया
  5. अल्दिको यूटोपिया
  6. एस टी एस ग्रीन्स सोसाइटी

ट्विन टावर को लेकर सुप्रीम कोर्ट में 7 सालों तक चली सुनवाई

ट्विन टावर के कई मानको और निर्माण मापदंडो का अनुसरण ना करने के वजह से, इस प्रॉपर्टी में निवेश किये हुए लोगों ने FIR दर्ज करायी थी | यह मामला राज्य स्तरीय कोर्ट में भी जा चुका था परन्तु संतोषजनक हल ना मिलने की वजह से इसे सुप्रीम कोर्ट तक ले जाया गया | जहाँ सुप्रीम कोर्ट ने पिछले सभी कारको को मद्देनज़र रखते हुए अपना फैसला सुनाया | 70 करोड़ की लागत से बने इस निर्मित टावर को ध्वस्त करने का आदेश दे दिया गया  | इसे ध्वस्त करने में लगभग 20 करोड़ का खर्च आने का अनुमान है | भारत और विदेशी कम्पनी को इसे नियंत्रित रूप से जमीनदोस करने ठेका दिया गया है |

Related Articles

Leave a Comment